Mark Zuckerberg का फेसबुक की सफलता तक का सफ़र Success Story In Hindi


आज के समय में शायद ही ऐसा कोई होगा जिसको फेसबुक के बारे में न पता हो फेसबुक पूरी दुनिया में न०-1 सोशल networking वेबसाइट है जो कितनी प्रसिद्ध है आप जानते ही हो | आज इस पोस्ट में मै आपको फेसबुक के फाउंडर (जन्मदाता) markzuckerberg की success स्टोरी शेयर कर रहा हु जिन्होंने फेसबुक को बनाया है | Markzuckerberg दुनिया के सबसे युवा billionare (अरबपति) है|

Markzuckerberg Biography in Hindi

 

loading...


फेसबुक के फाउंडर  (जन्मदाता) मार्क का जन्म 14 मई 1984 को New York में  हुआ था | ये दुनिया के सबसे युवा अरबपतियो में से एक है | मार्क का पूरा नाम Mark Elliot Zuckerberg है | मार्क 4 भाई-बहन है जिसमे से .मार्क अपने घर में अकेले लड़के थे | इनके पिता एक डेंटिस्ट थे और माँ एक मनोचिकित्सक थी | वर्ष 2016 में इनके पास $48.2 Billion (4,800 करोड़/48 अरब) की संपत्ति है |तो चलिए अब आगे जानते है के markzuckerberg दुनिया के सबसे यूवा अमीर कैसे बने और उनका फेसबुक की success का सफ़र कैसा था ,

बचपन से ही mark का मन कंप्यूटर और इन्टरनेट पर बहुत लगता था और उन्हें programming का बहुत जादा शौक था | उनको अपना पहला कंप्यूटर  10 साल की उम्र में मिला जिससे उनकी programming में और भी ज्यादा रूचि बढ़ गयी | programming की basic knowledge उनके पिता ने उन्हें सीखा दी मार्क का दिमाग बहुत तेज़ था| 12 साल की उम्र में मार्क ने Zucknet नाम से एक messenger बनाया जिसे उनके पिता ने अपने डेंटिस्ट  ऑफिस में एक कंप्यूटर में install किया और उसकी मदद से, Receptionist उन्हें किसी भी मरीज के आने की इनफार्मेशन दे देता था |  उन्होंने ऐसे और भी  बहुत सारे games और प्रोग्रम्म्स बनाये थे उन्हें ये करने बहुत अच्छा लगता था उनके programming language के लगाव को देखते हुए उनके पिता ने उनके लिए एक Programmer को भी रख लिया जो की मार्क को घर पर ही programming सीखाने आया करता था | जब मार्क हाई स्कूल की पढाई कर रहे थे तब उन्होंने मीडिया प्लेयर्स के लिए एक ऐसा सॉफ्टवेर बनाया जो की  Users की पसंद के हिसाब से आगे songs  Present करता था |  Microsoft जैसी बड़ी companies इस टूल को खरीदना चाहती थी लेकिन मार्क ने ये ऑफर ठुकरा दिया और कुछ companies तो उन्हें अपने साथ काम करने का मौका भी दे रही थी लेकिन उन्होंने मना कर दिया काम करने से |

History of Facebook :

 
Facebook  से पहले  Facemash –एक बार की बात है जब मार्क थोड़े बीमर थे उस समय उनहे एक site बनाने का idea आया जिसका नाम था Facemash. उस समय उनके collage की वेबसाइट थी जिस पर सभी स्टूडेंट्स की details और photo अपलोड होती थी तो मार्क को अपने collage की वेबसाइट के डाटा को हैक करने के बारे में सोचा | इस वेबसाइट की खास बात ये थी की इस वेबसाइट पर लडकियों की photo में तुलना की जाती थी की कोंसे ज्यादा सुंदर या आकर्षित (Hot) है और सबसे Interesting बात तो ये है की इस वेबसाइट पर  लडकियों की photo इकठ्ठा करने के लिए मार्के ने अपने कॉलेज Harvard university की  वेबसाइट को हैक किया था  जो की उस समय की सबसे Strong मानी जाती थी और कुछ ही दिनों में Facemash बहुत पोपुलर हो गयी और और Harvard University के बहुत सारे स्टूडेंट्स इसे इस्तेमाल करने लगे | लेकिन कुछ स्टूडेंट्स ने इसका विरोध किया और इसे आपत्तिजनक बताया | वेबसाइट इतनी इस्तेमाल होने लगी के कभी कभी यूनिवर्सिटी की वेबसाइट Crash हो जाया करती थी जब यूनिवर्सिटी को इसके बारे में पता चला तो, Mark को हैकिंग Community के सामने पेश किया गया और उन्हें दांट लगाई गयी और समझाया गया और फिर मार्क को छोड़ दिया गया |
Facebook बनाने का आईडिया –जब मार्क ने  facemash बनाने के बनाने के बारे में सोचा था तो Harvard University के स्टूडेंट, जिसका नाम Divya Narendra उसने मार्क से पहले ही यूनिवर्सिटी के लिए एक Social नेटवर्किंग वेबसाइट बनाने के बारे में फैसला कर लिया था इस काम में उनके साथ 3 मेम्बर और थे जिसमे 2 तो जुड़वाँ भाई थे , Tyler और Cameron Winklevoss और तीसरे थे मार्क जिन्हें  Programming का काम करना था | Narendra ने इस प्रोजेक्ट का नाम Horvard कनेक्शन रखा था लेकिन बाद में इसे ConnectU कर दिया गया |लेकिन जब मार्क इस प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे तो उनके मन में खुदकी Social नेटवर्क साईट बनाने का idea आया |
 
Starting of Facebook – मार्क  ने 4 February 2004 को एक वेबसाइट बनायीं थी जिसका डोमेन TheFacebook.com , register किया गया जो की अब Facebook के नाम से पोपुलर है और ये उस टाइम सिर्फ यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स क लिए ही थी
 Image Source :https://en.wikipedia.org/wiki/File:Thefacebook.png
कुछ ही समय बाद ये होर्वार्ड यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स के लिए शुरू हो गयी थी | धीरे धीरे फेसबुक पोपुलर हो रहा था तो मार्क ने इसके लिए इन्वेस्टर्स तलाशने शुरू करदिये और सबसे पहली इन्वेस्टमेंट फेसबुक को Paypal के Co-founder Peter Thiel से 5 लाख डॉलर मिले.लेकिन फेसबुक आगे इतना बढ़ता ही जा रहा था क मार्क को इसके और Development क लिए और इन्वेस्टमेंट की जरुरत थी तब Accel Partner ने $12.7 Million और Greylock Partners ने $27.5 मिलियन फेसबुक में इन्वेस्ट किये |2005 तक फेसबुक USA में सभी यूनिवर्सिटीज के लिए available हो गयी और फिर मार्क को जब लगा के ये और भी बहुत पोपुलर होती जा रही है तब उन्होंने इसका नाम TheFacebook से Facebook रख दिया |
जब फेसबुक users की संख्या 50 मिलियन से ज्यादा पहुँच गयी तो बड़ी बड़ी कंपनिया मार्क को अपना प्रोजेक्ट बेच देने के लिए ऑफर करती रही और जिसमे से Yahoo ने फेसबुक को $900 मिलियन का ऑफर दिया , लेकिन मार्क ने इसे मना कर दिया | कुछ समय बाद, Divya Narendra और उसकी टीम ने मार्क पर उनका प्रोजेक्ट Harvardconnection.com के idea और ConnectU के Source कोड को फेसबुक के development में Useे का आरोप लगा कर केस कर दिया | फिर कोर्ट ने Source code की जांच की लेकिन इसके रिजल्ट को घोषित नही किया गया |उसके बाद  2009 में मार्क $45 उन्हें देने के लिए तैयार हो गए और ,मार्क ने $20 मिलियन cash दिए और बाकी के फेसबुक के शेयर्स क रूप में उसके बाद केस बंद हो गया | तब ConnectU पर users की संख्या 1,00,000 थी जबकि फेसबुक पर users की संख्या 150 मिलियन से भी ज्यादा पहुच  चुकी थी |
Facebook ने 2012 में Instagram को $1 billion में खरीदा और उसके बाद मार्च 2014 में मार्क ने Oculas Rift को $2 बिलियन में खरीद लिया फिर मार्क ने Whatsapp को October 2014 में $22 बिलियन में खरीदा |
January 2010 में मार्क को Person of the Year के ख़िताब से नवाजा गया |

Markzuckerberg की Personal  Life –मार्क ने 19 May 2012 को अपनी girlfriend Priscilla Chan से शादी करली और  1 दिसम्बरः 2015 को वे एक बच्ची के पिता बन गए|
Priscilla chan चाइना से है |
Markzuckerberg के ऊपर एक किताब भी लिखी गयी जिसका नाम है , ”The Facebook Effect” और मूवी भी है ,”The Social Network (2010)”
 
तो ये थी markzuckerberg की success स्टोरी  की कैसे उन्होंने Facebook को दुनिया की no-1 social नेटवर्क वेबसाइट बनाया | फ्रेंड्स आपको कैसी लगी ये success स्टोरी अगर आपको ये पसंद आई हो तो प्लीज इसे अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर करे |

Deepak Shrivastav

Deepak Shrivastav Is the Founder Of ANKK. He loves to share his knowledge and experience about Blogging,SEO and Make Money Online on his Blog in Hinglish language.

4 thoughts on “Mark Zuckerberg का फेसबुक की सफलता तक का सफ़र Success Story In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *